logo
 


सेवाएं >उत्पाद-अनुसार


कोष (फंड) संग्रह सेवाएं

1. प्रोजेक्ट फाइनेंस और ऋण सिंडिकेशन

IPL टीम ऋण सिंडिकेशन मार्केट के बारे में गहरी समझदारी रखता है और अवसंरचना सेक्टर के बारे में यह अपने अनुभव अपनी मूल कम्पनी और सहयोगी संस्थाओं से प्राप्त करता है। ऋण सिंडिकेशन टीम में सामूहिक रूप से 100 से भी अधिक वर्षों का अनुभव रखने वाले लोग हैं जिन्होंने रु. 1 लाख करोड़ से भी अधिक के कोष-संग्रह में सफलतापूर्वक अपने परामर्श प्रदान किए हैं।

IIFCL ग्रुप की समकालन क्षमताएं IPL टीम को परिवहन, ऊर्जा, जल एवं स्वच्छकारिता, और संचार जैसे उद्योग क्षेत्रों में अपने क्लाइंटों की जरूरतों के अनुरूप सम्पूर्ण परिदृश्य प्रस्तुत करने में सक्षम बनाती हैं।

‘AAA' रेटेड वित्तीय संस्थाओं से गारंटी सुनिश्चित करके क्रेडिट इन्हैंसमेंट स्कीम तक पहुंच हासिल करने की समस्त प्रक्रिया में IPL टीम अपने क्लाइंटों को समर्थन देती है। हम आदि से अंत तक सम्पूर्ण प्रक्रिया की सार-संभाल करते हैं जो कि क्लाइंट के ऋण प्रोफाइल को समझने से आरंभ होते हुए समुचित ऋण सम्मिश्रण के बारे में उन्हें सुझाव देने तक विस्तृत है ताकि वित्तीय लागत कम की जा सके और, क्लाइंट की जरूरतों के अनुरूप, सर्वाधिक अनुकूल समाधान को क्रियान्वित करने की पूरी प्रक्रिया के दौरान उन्हें सहायता मिल सके।

अपनी मूल कम्पनी, IIFCL, की पुनर्वित्त योजनाओं के बारे में अपनी गहरी समझदारी के कारण IPL टीम अवसंरचना के क्षेत्र में अपने स्टेकहोल्डरों (हितधारकों) की जरूरतों को अच्छी तरह समझने में सक्षम है और वह भारत में अवसंरचनात्मक वित्तीय सेक्टर को रूपांतरित कर देने वाले IIFCL के प्रमुख उत्पादों जैसे ’क्रेडिट इन्हैंसमेंट स्कीम’ और ’टेक-आउट फाइनेंसिंग’ तक पहुंच हासिल करने में अपने क्लाइंटों को बेहतर परामर्श दे सकती है।

2. नव-कल्पनाशील वित्तीय समाधान

अवसंरचना फाइनेंसिंग सेक्टर में अपनी गहन समझदारी के कारण, IPL परियोजना बनाने वालों को पारंपरिक स्रोतों से अलग हटकर संसाधनों तक पहुंच हासिल करने में सहायता के लिए वित्तीय सलाहकार के रूप में कार्य करता है। इसके लिए वह परियोजना का मूल्यांकन करता है, उनकी रूपरेखा तैयार करता है और मार्केट में उपलब्ध निम्न प्रकार के विभिन्न उत्पादों के माध्यम से स्रोतों के संग्रहण को सहज बनाता है:

  • क्रेडिट इन्हैंस्ड बौंड्स : क्रेडिट इन्हैंस्ड बौंड’ मार्केट में उन अवसंरचना निर्माताओं के लिए नव-कल्पनाशील वित्तीय समाधान का एक स्वरूप हैं जो मौजूदा उच्च लागत ऋण को क्रेडिट इन्हैंस्ड बौंड से विस्थापित करना चाहते हैं। सुयोग्य परियोजनाएं जिन्हें ’COD’ रेटिंग प्राप्त हो चुकी है, उनकी क्रेडिट रेटिंग को किसी बाहरी एजेन्सी, जैसे किसी वित्तीय संस्था, बैंक और/या मल्टी-लैटरल एजेन्सी, से प्राप्त ’पार्शियल क्रेडिट गारंटी’ (PCG) के माध्यम से बढ़ा दिया जाता है। ऐसे बौंड्स के साथ कुछ लाभ भी जुड़े होते हैं जैसे पारम्परिक वित्तीय विधियों की तुलना में बेहतर मूल्य, दीर्घ मियाद और बेहतर संरचना। इससे निर्माताओं को अपनी क्रेडिट लाइनों को वर्तमान बैंकिंग चैनलों से मुक्त करने का भी अवसर प्राप्त होता है ताकि वे भविष्य की परियोजनाओं के लिए नए सिरे से फंडिंग प्राप्त कर सकें।
  • टेक-आउट फाइनेंसिंग : टेक-आउट फाइनेंसिंग दीर्घकालिक फंडों को अवसंरचनात्मक परियोजनाओं के लिए निर्गत करने हेतु एक स्वीकृत अंतर्राष्ट्रीय प्रथा है। इससे अवसंरचना निर्माता किसी बैंक के साथ एक त्रिपक्षीय अनुबंध में शामिल होकर ज्यादा लंबी मियाद के लिए फंड तक पहुंच प्राप्त करते हैं। यह बैंक उस परियोजना को एक आरंभिक अवधि जैसेकि 5 वर्षों तक, फंड उपलब्ध कराता है और एक वृहत वित्तीय संस्था COD के उपरांत बैंक से ऋण का अधिग्रहण कर लेती है।
  • मेज़नीन फाइनेंसिंग : : मेज़नीन फाइनेंसिंग अथवा ’उपाधीन ऋण’ (subordinate debt) इक्विटी फाइनेंसिंग और पारंपरिक ऋण फाइनेंसिंग के बीच के अन्तराल को भरता है। यद्यपि पारंपरिक ऋण को पुनर्भुगतान के संदर्भ में प्रथम अधिकार प्राप्त होगा किन्तु पुनर्भुगतान की प्राथमिकता के संदर्भ में इस तरह के फाइनेंसिंग पारंपरिक ऋण की तुलना में ’उपाधीन’ / सब-ऑर्डिनेट संरचना वाले होते हैं। साथ ही, इक्विटी फाइनेंस की तुलना में वे कम खर्चीले भी होते हैं।